Obesity । मोटापा क्या हैं इसकी पहचान। मोटापा कम कैसे करें

Obesity । मोटापा क्या हैं इसकी पहचान।

 मोटापा कम कैसे करें

Obesity । मोटापा क्या हैं इसकी पहचान। मोटापा कम कैसे करें


मोटापा एक बड़ी गंदी बिमारी है जो हर रोज
ज्यादा से ज्यादा लोगो की चिंता का विषय बन रही है। Obesity केवल शरीर के बढते आकार की चिंता नहीं है बल्कि यह एक ऐसी बिमारी है जो कई बड़ी बड़ी बीमारियों को जन्म देती है।

विषय सूची

• motapa क्या है। What is obesity
• मोटापे के कारण और लक्षण
• मोटापे के नुक़सान
• मोटापे को कैसे कम करे
• सारांश


• motapa क्या है। What is obesity


मोटापा केवल किसी का वजन अधिक होने से नहीं है। जो लोग मोटे माने जाते है उनके पास 30 या उससे ज्यादा Body mass index होना चाहिए।

अगर कोई ज्यादा मोटा है तो इसका मतलब है कि उन्हें टाइप 2 मधुमेह , हृदय रोग, कैंसर जैसी अन्य गंभीर बीमारियों का ज्यादा खतरा है।

मोटापे का इलाज करना कुछ लोगो के लिए मुश्किल है क्युकी इसमें आपको अपने खानपान में बदलाव की जरूरत होती है। आमतौर पर जो लोग मोटे होते है वे वजन कम करने के लिए बहुत तरीके अपनाते हैं लेकिन कुछ टाइम के बाद वे फिर से इस मोटापे को पा लेते है।

हालांकि वे लोग भी जो exercise और dieting के साथ मोटापे को कम करने में सफल हुए है।



• मोटापे के कारण और लक्षण

Obesity एक ऐसी बिमारी है जो आपके गलत खानपान से जुड़ी है। हालांकि यह तब भी हो सकती है जब आप पहले से ही किसी और बिमारी से जूझ रहे है।

Motape के कुछ प्रमुख कारण है

1. Diet | आहार


Obesity । मोटापा क्या हैं इसकी पहचान। मोटापा कम कैसे करें


मिठाई, मिठी चीजें, पास्ता, पेस्ट्री और Junk Food, fast food जिसमे अधिक मात्रा में वसा या ऊर्जा हो इनको खाने से motapa या obesity हो सकती हैं।

अगर इन fast या junk food को लंबे समय तक खाया जाए तो इस प्रकार के खाद्य प्रदार्थ ना केवल वजन बढ़ाते हैं बल्कि हमारे पाचन तंत्र को भी नुक़सान पहुंचा सकते है।

2. आप कितनी बार खाते है


आप दिन में कितनी बार खाते है वास्तव में यह वजन बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभा सकता है। Normal weight वाले लोगो की तुलना में अधिक वजन वाले लोग ज्यादा खाना खाते है। 

अध्ययन से पता चलता है कि जो लोग दिन में 4 या 5 बार छोटे भोजन खाते है उनमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और उनका वजन भी कम होता है।

3. नींद की कमी


नींद की कमी से शरीर में हार्मोनल परिवर्तन हो सकते है जो भुक को प्रभावित कर सकते हैं। लंबे समय से नींद की कमी आपके पाचन तंत्र पर गम्भीर प्रभाव डाल सकती है और आपको वजन बढ़ाने के लिए सेट कर सकती है।

अगर आप मोटे है तो आपको कैसे पता चलेगा ? यहां मोटापे के Main Symptoms है :-

- सांस फूलना
- खर्राटे या sleep apnea
- शारीरिक गतिवधि करने में असमर्थ
- बहुत ज्यादा पसीना आना
- पीठ में दर्द
- हार्मोनल असंतुलन
- आत्मविश्वास की कमी
- अकेला महसूस करना

4. जीन्स


लगभग 300 जीन्स को obesity या Motape का कारण माना गया हैं। ये जीन्स भूख, पाचन तंत्र, भोजन की खटास और शरीर में वसा को बढाने जैसे कारकों को प्रभावित कर सकते हैं।

जीन्स का प्रभाव एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में 25% से 80% तक अलग हो सकता है।


• मोटापे के नुक़सान


मोटापा किसी भी व्यक्ति के लिए कई स्वास्थ जोखिम पैदा कर सकता है। इनमे से कुछ जोखिम नीचे दिए गए हैं-

1. High Blood pressure


Obesity । मोटापा क्या हैं इसकी पहचान। मोटापा कम कैसे करें


अतरिक्त वजन दिल के धड़कने की छ्मता को बड़ा सकता है और खून की परिवहन छमता को कम कर सकता है और धमनियों की दीवारों पर High Pressure को बढाता है।
यह Heart Attack या Stroke का परिणाम बन सकता है।

2. Type 2 Diabetes


Diabetes तब होता है जब आपकी कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया करने में असमर्थ हो जाती हैं। Type 2 Diabetes वाले लोगो के लिए रक्त शर्करा में बहुत अधिक ग्लूकोज और शर्करा का निर्माण होता है। यह स्वास्थ के नुकसान का कारण बन सकता हैं और इंसुलिन का उत्पादन करने की शरीर की छ्मता को भी कम कर सकता है।

3. कैंसर


मोटापे के कारण कुछ लोगों को निम्न प्रकार के कैंसर हो सकते हैं-

- मानसिक और रीढ़ की हड्डी को कवर करने वाले उतक में कैंसर

- थायरॉयड , लिवर, पित्ताशय की थैली, ऊपरी पेट, अग्नाशय, अंडाशय और किडनी कैंसर।

- स्तन कैंसर, पेट में कैंसर और एंडोमेट्रियल कैंसर विशेष रूप से मोटापे से जुड़े होते है।

यदि आप ज्यादा मोटे है तो आपको इन बिमारियों के ऊपर नजर रखनी चाहिए।

4. Fatty liver | Liver की सूजन


Fatty liver की बिमारी तब होती है जब समय के साथ साथ लिवर में अधिक वसा बनता है। लिवर में बहुत ज्यादा fat या
वसा सूजन पैदा कर सकता है जिससे स्कारिंग ( यकृत फाइब्रोसिस) हो सकता है। जो बाद में liver fail होने का कारण बन सकता है।

5. Heart Disease


Heart disease एक ऐसा रोग है जो विभिन्न प्रकार की हृदय स्थितियों को दिखाता है। कुछ अलग स्थितयों में दिल की अनियमित धड़कन , एथेरोस्क्लेरोसिस ( धमनियों का सख्त होना ) , कार्डियोमायोपैथी ( हृदय की मांसपेशियां सख्त या कमजोर हो जाना ) , जन्मजात हृदय दोष ( जन्म से दिल की अनियमितता ) , कोरोनरी धमनी रोग , Heart Infection मोटापे के कारण हो सकते है।

• मोटापे को कैसे कम करे


Motapa एक बड़ी परेशानी वाली स्थिति है और इसका इलाज करना कठिन भी हो सकता है, लेकिन इलाज करना impossible भी नहीं है। मोटापे के इलाज के लिए कई तरीके है जिसमे से कुछ नीचे दिए गए हैं-

1. आपकी Diet


मोटापे का पहला इलाज ही आपका भोजन का सेवन है। कम कैलोरी ( perday 500- 1000) खाने से वजन कम करने में मदद मिल सकती है। Diet वो लीजिए जिसमे वसा और कैलोरी में कम है और पोषक तत्वों में ऊंचे है।

आमतौर पर यह देखा जाता है कि जो व्यक्ति कम कैलोरी वाली Diet लेते है उनका वजन भी लगभग दो साल बाद वापिस आ जाता है।


2. Exercise


व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करने से आपको अपना वजन क्रम करने में मदद मिल सकती है। संतुलित आहार के साथ रोजाना exercise आपके पाचन तंत्र में सुधार कर सकती है और आपके शरीर को अधिक आसानी से वजन रोकने में मदद कर सकती है। 

काम करते वक़्त सीढ़ियां ले, फोन पर बात करते वक़्त चले जिससे वजन में कुछ कमी लाई जा सकती है।

3. तनाव ना करे


तनाव आपको मोटा करने में सबसे आगे है। जब तनाव महसूस होता है, तो एक Hemburger या कोल्ड ड्रिंक लेने की बजाय तनाव कम करने की तकनीक जैसे गहरी सांस लेने, योग या समाज में घुलने मिलने की कोशिश करे।


• सारांश


मोटापा बस ज्यादा वजन होने से अलग होता है । इसमें कुछ बिमारी जैसे Diabetes, Heart disease और Fatty liver शामिल है।

अनुवांशिकी, आहार , शारीरिक गतिवधि, दवाओं और पहले से मजुद स्वास्थ स्थितियों के साथ और भी कई वजह से Motapa हो सकता है।

मोटापे के लक्षणों में सांस लेने में दिक्कत, अत्यधिक पसीना और आत्म विश्वास में कमी शामिल हो सकते है।

जीवन शैली में सुधार , स्वस्थ आहार , रोज व्यायाम , ज्यादा मात्रा में पानी पीने और पूरी नींद लेने से व्यक्ति मोटापे से लड़ सकता है और अपने लक्ष्य को हासिल करने में मदद कर सकता है।





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां